वन नेशन वन राशन कार्ड क्या है? इस कार्ड के क्या लाभ है ?

वन नेशन वन राशन कार्ड

दोस्तों आज हम सरकार की नयी योजना वन नेशन वन राशन कार्ड के बारे में बात करेंगे। सरकार के मुताबिक अगस्त 2020 तक राज्यों में मौजूद लगभग 67 करोड़ राशन कार्ड धारको को एक राष्ट्र एक राशन कार्ड से जोड़ दिया जायेगा। इसका उद्देश्य ये है की कोई भी व्यक्ति सब्सिडी वाले खाद्य पदार्थ से वंचित न रह सके। तो दोस्तों इसके बारे में हम विस्तार से बात करेंगे तो सबसे पहले हम जानते है।

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना क्या है ?

दोस्तों एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना बिलकुल मोबाइल पोर्टेब्लिटी की तरह है जैसे हम एक राज्य से दूसरे राज्य में जाते है तो केवल नेटवर्क बदल सकते है नंबर बदलने की जरुरत नहीं होती।

इसी तरह अब आपका राशन कार्ड नहीं बदलेगा। एक राज्य से दूसरे राज्य में चले जाने पर भी आप उसी राशन कार्ड से सरकारी राशन खरीद सकते है। आपको नया कोई भी राशन कार्ड नहीं चाहिए । आपके पुराने राशन कार्ड ही मान्य होगी।

दोस्तों इससे पहले ये नियम था के राशन कार्ड जिस जिले का बना है राशन उसी जिले से खरीद सकते थे। जिला बदलने पर आपको राशन नहीं मिल पाता लेकिन एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना लागू होने से इससे छुटकारा मिल गया है। अब आप जिला तो क्या राज्य बदलने पर भी आप सरकारी राशन ले सकते है।

ये भी पढ़े – Ration card क्या है? इसके क्या क्या फायदे है। और कैसे बनवाये।

वन नेशन वन राशन कार्ड के क्या लाभ है ?

  • देश का हर व्यक्ति जो इसके दायरे में आता हो इस योजना का लाभ उठा सकता है।
  • जो लोग एक राज्य से दूसरे राज्य में जाकर रोजगार करते है , इसका फायदा आसानी से उठा सकते है।
  • उपभोक्ता अपने पुराने राशन कार्ड के माध्यम से बड़े ही आसानी से कही भी सरकारी राशन खरीद सकता है।
  • इससे सबसे बड़ा फायदा प्रवासी मजदूरों को होगा।
  • फर्जी राशन कार्ड पर लोक लगाने में ये योजना कारगर होगा।
योजना का नामवन नेशन वन राशन कार्ड (ONORC)
वर्ष2020
लॉन्च किया गयाकेंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान द्वारा
उद्देश्यइसका उद्देश्य ये है की कोई भी राशन कार्ड धारक खाद्य पदार्थ से वंचित न रह सके
उद्घाटन की तारीखअगस्त 2019
योजना की समय सीमा30 जून 2030
 पुरे देश में लागू कर दिया गया1 जून 2020
नोडल एजेंसीभारतीय खाद्य निगम
 ऑफिसियल पोर्टलhttps://nfsa.gov.in/Default.aspx

वन नेशन वन राशन कार्ड का आवेदन कैसे करे। 

देश में मौजूद किसी भी राशन कार्ड धारक को एक राष्ट्र एक राशन कार्ड के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है। सभी राज्यों एवं केंद्र के सरकार उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार सभी राशन कार्ड धारको के राशन कार्ड को आधार कार्ड से सत्यापित कर लिंक करेगी। इसके बाद इंटीग्रेटेड मैनेजमेंट पब्लिक डिस्टीब्यूशन सिस्टम के अंतर्गत आकड़ो को उपलब्ध कराएगी | जिससे सभी नागरिक देश के किसी भी राज्य से अपने राशन ले सकेंगे |

ये भी पढ़े – Atal Pension Yojana क्या है? इसके क्या क्या लाभ हैं।

वन नेशन वन राशन कार्ड में क्या दस्तावेज जरुरी है ?

वन नेशन वन राशन कार्ड का फायदा लेने के लिए आपके पास बस दो जरुरी दस्तावेज की आवश्यकता पड़ती है। पहला आपका राशन कार्ड और दूसरा आपका आधार कार्ड आप जब भी राशन लेने सरकारी दुकान पे जायेंगे आपका वेरिफिकेशन आधार कार्ड से होगा। हर राशन की दूकान पर एक इलेक्ट्रॉनिक पॉइंट ऑफ़ सेल डिवाइस होगी इस डिवाइस से ही आधार नंबर के जरिये उपभोक्ता की वेरिफिकेशन होगी। वेरीफाई होने के बाद आपको राशन दे दिया जायेगा।

10 अंको का होगा राशन कार्ड।

वन नेशन वन राशन कार्ड 10 अंको का होगा । इस अंको  में पहले 2 अंक राज्यों के कोड रहेगा फिर 2 अंक राशन कार्ड नंबर, इसके बावजूद राशन कार्ड के नंबर के साथ एक और 2 अंको का सेट जोड़ा जायेगा।

अब आपके मन में ये सवाल आती होगी के पुराने राशन कार्ड का क्या होगा ?

सरकार ने स्पष्ट किया  है के एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना आने के बाद भी पुराना राशन कार्ड चलता रहेगा। बस नए नियम के आधार पर उसे अपडेट किया जायेगा। जिससे ये राशन कार्ड पुरे देश में मान्य होगा। अलग से कोई भी नया राशन कार्ड बनवाने की आवश्यकता नहीं है आपको पुराने राशन कार्ड पे ही एक राष्ट्र एक राशन कार्ड का फायदा मिलेगा। 

तो दोस्तों ये था एक राष्ट्र एक राशन कार्ड के बारे में कुछ जरुरी जानकारी शेयर जरूर करे।  इससे जुडी कोई भी सवाल आपके मन में होतो कमेंट में पूछ सकते है।

पसंद आया तो शेयर करे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*