Atal Pension Yojana क्या है? इसके क्या क्या लाभ हैं।

Atal Pension Yojana क्या है? इसके क्या क्या लाभ हैं।
फोटो - thenewsstrike.com

Atal Pension Yojana बहुप्रतीक्षित एवं वृद्धजनों के जीवन में आने वाली कठिनाईयों को ध्यान में रखते हुए शुरू की गई योजना है। इस पड़ाव में बुर्जुर्गों  की कार्य शक्ति में कमी आने लगती है। शरीर शिथिल होने लगता है।

याददाश्त में भी अनेक प्रकार की समस्याएं आती हैं। आज दिनों दिन भारत देश में वृद्ध आश्रम तेजी से पनप रहे हैं जो हमारे सामाजिक संबंधों के टूटते बिखरते रिश्तो का प्रतीक है। आज भोग वादी प्रव्रति  ने व्यक्ति की मानसिकता को संकीर्ण बना दिया है यह अत्यंत चिंतनीय एवं गंभीर समस्या को दर्शा रहा है। आज देश में लगभग 7.5% प्रतिशत जनसंख्या वृद्ध आयु के अंतर्गत आते हैं।

इनकी सेवा प्रत्येक राज्य व हमारे देश का कर्तव्य है। इसी बात का ध्यान रखते हुए माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदर मोदी द्वारा एक योजना शुरू की गई जिसका नाम था अटल पेंशन योजना। तो आइए दोस्तों इस योजना के माध्यम से हम इसे जन-जन तक पहुंचाएं और समाज में जिस वृद्ध जनों को इसके बारे में जानकारी समय रहते मिल सके यह बहुत जरूरी है।

हमारा उद्देश्य यही है की बुजुर्ग एवं सम्मानीय वरिष्ठ जन सम्मानजनक जीवन इस पेंशन के माध्यम से जी सकें और शारीरिक मानसिक एवं आर्थिक रूप से सशक्त हो सकें। तो आइए दोस्तों आज हम संपूर्ण जानकारी इस लेख के माध्यम से साझा करेंगे।

पेंशन की आवश्यकता।

एक पेंशन लोगों को एक मासिक आय प्रदान करता है जब वे कमाई नही कर रहे होते हैं। उम्र के साथ संभावित कमाई आय में कमी परमाणु परिवार का उदय – कमाउ सदस्य का पलायन जीवन यापन की लागत में वृद्धि दीर्घायु में वृद्धि निश्चित मासिक आय बुढ़ापे में सम्मानजनक जीवन सुनिश्चित करता है

Atal Pension Yojana की शुरुआत कब व् कहाँ की गई?

भारत सरकार द्वारा शुरू एवं वित्त पोषित योजना Atal Pension Yojana की शुरुआत प्रधानमंत्री द्वारा 9 मई 2015 को कोलकाता पश्चिम बंगाल से प्रारंभ की गई।

Atal Pension Yojana शुरू करने के लिए पात्रता क्या है?

  • ऐसा व्यक्ति जिसे भारतीय नागरिकता प्राप्त हो।
  • जिसकी पास एक वैध नंबर और आधार कार्ड नंबर हो।
  • व्यक्ति का स्वयं का एक बैंक खाता होना अनिवार्य है
  • वह व्यक्ति अटल पेंशन योजना का लाभ ले सकता है।

Atal Pension Yojana के क्या क्या लाभ हैं?

  • इस योजना के माध्यम से वरिष्ठ जनों को आर्थिक मजबूती प्रदान की जाएगी।
  • योजना में अंशदान केवल 50% ही करना होगा शेष सरकार द्वारा वहन किया जायेगा।
  • वरिष्ठ जनों के सम्मान की गरिमा एवं उनका महत्व भी समाज एवं परिवार में बना रहेगा।
  • अटल पेंशन योजना के माध्यम से नेशनल पेंशन योजना से स्वतः ही जुड़ सकेगा।
  •  Atal Pension Yojana के माध्यम से अन्य प्रत्यक्ष एवम् अप्रत्यक्ष लाभ प्राप्त होंगे।

योजना के लिए आवेदन कहां और कैसे करें?

Atal Pension Yojana में शामिल होने के लिए एक सामान्य वह सरल प्रक्रिया अपनानी होती है। सर्वप्रथम आपका बचत खाता जिस बैंक में है वहां जाकर आप अटल पेंशन योजना के लिए आवेदन पत्र प्राप्त कर सकते हैं। उसे भरकर जरूरी दस्तावेज के साथ बैंक में जमा कर दिया जाता है और यह योजना शुरू हो जाती है। आप अपनी पेंशन योजना की प्रीमियम राशि मासिक, त्रैमासिक, अर्धवार्षिक या वार्षिक रूप में जमा कर सकते हैं। आपके अकाउंट से प्रीमियम के पैसे ले लिए जाएंगे।

ऑनलाइन आवेदन हम कैसे कर सकते हैं?

Atal Pension Yojana क्या है? इसके क्या क्या लाभ हैं।
अटल पेंशन योजना आवेदन फॉर्म –

Atal Pension Yojana में शामिल होने के लिए हम ऑनलाइन का भी सहारा ले सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको नेशनल पेंशन सिस्टम के ऑफिसियल पेज पर जाना होगा
  • वहां जाकर आप अटल पेंशन योजना एप्लीकेशन पर क्लिक करना होगा
  • अपने आधार कार्ड की जानकारी उसमें देनी होगी
  • आपको आधार कार्ड से जुड़े हुए नंबर में ओटीपी प्राप्त होगा। वह OTP number ब्रैकेट में डालेंगे।
  • इसके बाद बैंक का विवरण आपको देना होगा और जो भी रिक्वायरमेंट होती है उसे फिल अप करना होगा।
  • कुछ वेरीफाइड की जरूरत होगी और आपका खाता शुरू हो जाएगा।

आगे की प्रक्रिया में आपको अपने बैंक का विवरण देना होगा जैसे अकाउंट नंबर और एड्रेस आदि फिल अप करने होंगे।

यह जानकारी को पुनः वेरीफाइड किया जाएगा और आपका खाता पूर्ण रूप से सक्रिय हो जाएगा।

आप अपने nominee और premium राशि की जानकारी उसमे डाल  सकेंगे।

अंत में अपने फॉर्म को ई साइन करने के पश्चात पेंशन योजना रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

ये भी पढ़े – प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना क्या है? इसका लाभ आप कैसे उठाये ।

योजना में शामिल होने के लिए किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

इस योजना में शामिल होने के लिए आपको अनेक बातों का ध्यान रखना आवश्यक होगा। आप कम उम्र में इस योजना में शामिल होंगे तो आपको प्रीमियम राशि कम देनी पड़ेगी क्योंकि अवधि लंबी होगी। यदि आप अधिक उम्र में इस योजना में शामिल होते हैं तो आपको प्रीमियम राशि ज्यादा देनी होगी अतः कम उम्र में शामिल हो जाना चाहिये। आपके बैंक अकाउंट में जरूरी पैसे हमेशा होने चाहिए अगर नहीं है तो तुरंत ही जमा करते रहें अन्यथा आप पर पेनाल्टी भी लग सकती है यह पेनाल्टी प्रति ₹100 पर ₹10 पेनाल्टी लगेगी।

Atal Pension Yojana में प्रीमियम दरें कितनी है?

इस योजना में इस बात का ध्यान बड़ी ही प्राथमिकता से रखा गया है कि इसकी प्रीमियम दरें काफी कम हो। इसमें ₹42 से प्रारंभ होकर ₹210 प्रति माह के आसपास प्रीमियम जमा कर सकते हैं। यह अत्यंत छोटी रकम बड़ी ही समझदारी के साथ रखी गई है ताकि इस योजना का लाभ आम जनता तक पहुंच सके।

इसमें समय का अत्यंत महत्व है। उदाहरण के लिए यदि आपकी आयु 25 साल है तो आपको ₹1000 पेंशन पाने के लिए 76 रुपए जमा करने होंगे प्रतिमाह, 2000 पेंशन पाने के लिए ₹51 जमा करने होंगे प्रतिमाह, ₹3000 पाने के लिए ₹226, 4000 पेंशन पाने के लिए ₹301 और 5000 पेंशन पाने के लिए ₹376 मासिक जमा करना अनिवार्य होगा।

ये भी पढ़े – Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana क्या है? इसके क्या फायदे है।

Atal Pension Yojana में कौन शामिल नहीं हो सकता?

के अंतर्गत जो लोग आयकर अर्थात इनकम टैक्स के दायरे के अंतर्गत आते हैं, जो सरकारी एम्पलाई हैं या जिनके द्वारा इपीएफ ईपीएस जैसी स्कीमों का लाभ ले रहे हैं वह इस योजना के योग्य नहीं होंगे।

इस योजना का लाभ कौन ले सकता है?

कोई भी भारत का नागरिक जिसकी आयु 18 से 40 के मध्य हो और इसका एक बचत खाता अकाउंट नंबर किसी बैंक में खोला गया है वह इस योजना में भाग ले सकता है इसमें आधार कार्ड का बैंक अकाउंट के साथ लिंक होना अनिवार्य होता है इसे इनकम टैक्स स्लैब बाहर रखा गया है।

Atal Pension Yojana में उम्र सीमा क्या निर्धारित की गई है?

इस योजना का लाभ उठाने के लिए कम से कम 18 साल से अधिक और 40 साल से कम उम्र के व्यक्ति ही लाभ ले सकते हैं और इस योजना में कम से कम 20 वर्ष तक निवेश करना अनिवार्य होता है तभी पेंशन का लाभ प्राप्त हो सकता है।

Atal Pension Yojana के माध्यम से कितने रुपए तक प्रतिमाह पेंशन की गारंटी प्राप्त होगी।

अटल पेंशन योजना के द्वारा 1000₹, 2000₹, 3000₹,4000₹, 5000 प्रतिमाह की पेंशन का प्रावधान किया गया है। इसके साथ ही प्रति माह 20 वर्षों तक निश्चित धनराशि की दरें भी बढ़ती जाएंगी। इसके लिए निम्नलिखित चार्ट नीचे दिया जा रहा है-

Atal Pension Yojana

Atal Pension Yojana का लाभ किस बैंक के द्वारा प्राप्त किया जा सकता है?

अटल पेंशन योजना सरकार द्वारा निर्धारित व रिजर्व बैंक के अनुसूचित बैंकों में खाता खोलकर खाते के माध्यम से इस योजना का लाभ लिया जा सकता है।

Atal Pension Yojana में कब से पेंशन मिलना चालू हो जाता है?

इस योजना के अंतर्गत किए जा रहे अंशदान की परिपक्वता अवधि 60 वर्ष के उपरांत हो जाती है और इसी वर्ष के साथ पेंशन मिलना प्रारंभ हो जाता है यह अन्य सरकारी पेंशन की तरह ही होता है।

Atal Pension Yojana में अंशदान करने की क्या सुविधाएं प्राप्त हैं?

इस योजना में अंशदान करने के लिए मासिक, त्रैमासिक व् अर्धवार्षिक अंशदान करने की सुविधा प्रदान की गई है। जिससे व्यक्ति आसानी से अंशदान कर सके और पेंशन का लाभ ले सके।

ऐसी योजना में पैसे कैसे जमा किया जाएगा?

Atal Pension Yojana में पैसे जमा करने के लिए आपको अपने बैंक अकाउंट को योजना से लिंक करना होगा और उसमें पर्याप्त पैसे रखने होंगे यह पैसे अपने आप ही कट जाएंगे और योजना के लिए प्रेषित कर दिए जाएंगे।

अटल पेंशन योजना में कोई टैक्स संबंधी बेनिफिट प्राप्त होता है?

Section 80 CCD-1 एवम् 80 ccd-1B के तहत Atal Pension Yojana में छूट का प्रावधान किया गया है।

अटल पेंशन योजना के तहत यदि 60 वर्ष से पहले खाता धारक की मृत्यु हो जाए तो क्या होगा?

यदि Atal Pension Yojna के अंतर्गत शुरू किए गए खाते योजना की प्रवक्ता अवधि के पहले अर्थात 60 वर्ष से पहले मृत्यु हो जाने पर जमा धनराशि उसके nominee को दे दी जाती है वह चाहे तो खाता चालू रख सकता है।

योजना में परिपक्वता से पहले धन निकासी की क्या की जा सकती है?

Atal Pension Yojana के अंतर्गत परिपक्वता अवधि के पहले धन निकासी की सुविधा नहीं मिली है। परंतु जमा कर्ता की मृत्यु पेंशन प्रारंभ होने से पहले हो जाती है या जमा करता की गंभीर स्वास्थ्य संबंधी समस्या आ जाती है तो वह धन निकाला जा सकता है; जो जमा करता ने जमा किया है।

ये भी पढ़े – Sukanya Samriddhi Yojana क्या है। जानिए सब कुछ।

Atal Pension Yojana का लाभ कितने लोग उठा रहे हैं?

पेंशन योजना असंगठित श्रमिकों, कामगारों, गरीबों व आम जनता के लिए शुरू शुरू की गई है। आज योजना का लाभ लगभग डेढ़ करोड़ लोगों के द्वारा उठाया जा रहा है जो एक इस योजना के उद्देश्य को की सार्थकता को प्रदर्शित करता है।

क्या 40 से अधिक उम्र के व्यक्ति इस योजना का लाभ ले सकते हैं?

इस योजना का लाभ 18 से 40 वर्ष के उम्र के व्यक्ति ही ले सकते हैं। 40 वर्ष से अधिक की आयु वाले व्यक्तियों को यह सुविधा प्रदान नहीं की गई है कि वह योजना में शामिल हो सकें।

क्या योजना के धारक की मृत्यु के बाद पेंशन मिलेगा?

Atal Pension Yojana के धारक की पेंशन 60 वर्ष के बाद प्रारंभ होती है और वह जब तक जीवित रहता है तब तक उसे ₹5000 पेंशन अधिकतम premium जमा करने पर प्राप्त होते रहती है। यदि पेंशन योजना के धारक की मृत्यु हो जाती है तो उसकी पत्नी को ₹5000 पेंशन का लाभ अनवरत रूप से जारी रहता है। इसके बाद यदि पत्नी या पति की मृत्यु हो जाती है तो उनके उत्तराधिकारी या नॉमिनी को एकमुश्त रकम 8.5 लाख रुपये निकालने का अधिकार होगा।

अटल पेंशन योजना का लाभ कितने लोग उठा रहे हैं?

पेंशन योजना असंगठित श्रमिकों, कामगारों, गरीबों व आम जनता के लिए शुरू शुरू की गई है। आज योजना का लाभ may 2020 तक लगभग 2.2 करोड़ लोगों के द्वारा उठाया जा रहा है जो एक इस योजना के उद्देश्य को की सार्थकता को प्रदर्शित करता है।

  • ग्राहक 1 वर्ष के दौरान पेंशन राशि को बढ़ाने और घटाने के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • अविवाहित व्यक्ति विवाह के पश्चात पति या पत्नी का नाम नॉमिनी में दर्ज करवा सकेगा व्यक्ति चाहे तो किसी और का भी नाम नॉमिनी में मनोनीत कर सकता है।
  • ग्राहक प्रतिवर्ष अप्रैल महीने के दौरान जमा करने की राशि की समय सीमा मासिक त्रैमासिक या अर्धवार्षिक में परिवर्तित कर सकेगा।
  • Registered mobile number के माध्यम से खाते की वर्तमान स्थिति शेष राशि योगदान क्रेडिट और खाते की सक्रियता की जानकारी एसएमएस के माध्यम से प्राप्त की जा सकेगी।
  • एक व्यक्ति केवल एक ही अटल पेंशन योजना का लाभ ले सकता है।
  • इस योजना का लाभ केवल भारत के नागरिक ही ले सकते हैं।

इस योजना की देखरेख किस authority द्वारा की जाती है?

अटल पेंशन योजना की देखरेख एवं क्रियान्वयन राष्ट्रीय पेंशन सिस्टम एवं पेंशन फंड नियामक एवं विकास प्राधिकरण पीएफआरडीए द्वारा की जाती है।

कोरोना महामारी के दौरान क्या सुविधाएं व् छूट इस योजना में मिली है?

Atal Pension Yojana में प्रति माह जमा होने वाले प्रीमियम राशि पर पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी पीएफआरडीए द्वारा ऑटो डेबिट फैसिलिटी अर्थात पैसे अकाउंट से काटने की सुविधा 23 जून 2012 तक प्रतिबंधित कर दी है। इसका अर्थ है कि उन्हें अपने अकाउंट से इस स्कीम के लिए जून 2020 तक पैसे जमा नहीं करने होंगे। इसमें 30 दिसंबर 30 सितंबर 2020 तक किसी भी प्रकार के ब्याज अदायगी की छूट प्रदान की गई है अर्थात ब्याज नहीं देना होगा। इस योजना में यह भी प्रावधान किया गया है कि 30 सितंबर के पहले किसी भी जुर्माने से छूट का प्रावधान किया गया है।

पेंशन की अन्य कौन-कौन सी योजनाएं हैं?

Atal Pension Yojana के साथ अन्य योजनाएं जैसे प्रधानमंत्री वय वंदना योजना, वरिष्ठ नागरिक बचत योजना एवं नेशनल पेंशन स्कीम की सुविधा केंद्र सरकार द्वारा वरिष्ठ नागरिकों को प्रदान की गई है। इनमें से किसी एक का लाभ ले सकते हैं।

Atal Pension Yojana के तहत सरकार के सह-योगदान प्राप्त करने के लिए पात्र नहीं हो सकते है:

  • कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम, 1952
  • कोयला खान भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम, 1948
  • असम चाय बागान भविष्य निधि और विविध प्रावधान, 1955
  • नाविक भविष्य निधि अधिनियम, 1966
  • जम्मू-कश्मीर कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम, 1961
  • कोई भी अन्य वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजना

अधिक जानकारी के लिए आप निचे दी गई pdf file को डाउनलोड कर सकते है –

atal pension yojna APY Scheme Details

APY_Scheme_Details pdf

APY_Subscribers_Contribution_Chart_1

APY_Subscriber_Information_Brochure

Atal Pension Yojana Training Manual

तो दोस्तों ये था Atal Pension Yojana के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी।  इससे जुडी कोई भी सवाल आपके मन में हो तो कमेंट में पूछ सकते है। शेयर जरूर करे। धन्यवाद्

पसंद आया तो शेयर करे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*