(Rajssp) राजस्थान सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना क्या है?

(Rajssp)

दोस्तों आज हम राजस्थान सरकार के (Rajssp) सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के बारे में जानेंगे। आखिर यह योजना है क्या? इसका कौन-कौन लाभ ले सकते हैं? इसकी पात्रता, नियम व शर्तें क्या है? कौन-कौन से दस्तावेजों की जरूरत होती है? क्या-क्या लाभ इस योजना से प्राप्त होते हैं? इसकी प्रक्रिया क्या है? ऐसे ही कुछ अन्य आवश्यक जानकारियां जो हमारे प्रिय पाठकों के लिए आवश्यक हो, हम उपलब्ध कराएंगे। तो आईये जानते है।

(Rajssp) राजस्थान सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना –

सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना राज्य सरकार द्वारा सभी गरीबों, आश्रितों, असहाय वृद्धजनों के लिए शुरू की गई एक महत्वपूर्ण योजना है। वर्तमान समय में यह एक अनिवार्य जरूरत बन चुकी है; इसका कारण संयुक्त परिवार के विघटन, भोग वादी व्यवस्था, खत्म होते रिश्ते-नाते एवम् मरते भावनाएं हमें उन असमर्थ अनाथ नागरिकों की सहायता के लिए प्रेरित करते हैं जो अत्यंत कठिन जीवन जीने के लिए विवश हैं।

इसी का ध्यान रखते हुए पेंशन योजनाएं लोगों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने का एक सशक्त माध्यम बना है। पेंशन के माध्यम से जीवन मैं आने वाली की कठिनाइयों का सामना आसानी से किया जा सकता है। Samajik Suraksha pension Schemes को सरलता से लागू करने के लिए अनेक प्रयास राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे हैं इसी के अंतर्गत (Rajssp) राजस्थान सामाजिक सुरक्षा पेंशन शुरू की गई और इसे जन जन तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।

(Rajssp) सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना शुरू करने का उद्देश्य –

भारतीय संविधान के नीति निदेशक तत्व के अनुच्छेद 38 अनुच्छेद 41 अनुच्छेद 42 अनुच्छेद 46 अनुच्छेद 45 में स्पष्ट रूप से यह व्याख्या की गई है कि राज्य अपने नागरिकों के लिए लोक कल्याणकारी कार्य करेंगे। राज्य सरकार द्वारा इसी और ध्यान रखते हुए इसका ध्यान रखते हुए राज्य वरिष्ठ नागरिक गण, विधवा-विधुर, परित्यक्ता, असहाय, अनाथ, दिव्यांग एवं अन्य नागरिक जिन्हें विशेष सहायता की आवश्यकता समय अनुसार होती है उनके लिए यह पेंशन योजना स्वीकृत करने का लक्ष्य रखा गया है।

ये भी पढ़े – Atal Pension Yojana क्या है? इसके क्या क्या लाभ हैं।

(Rajssp) सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओं हेतु पात्रता एवं शर्तें –

राज्य सरकार सबका साथ सबका विकास के सूत्र को ध्यान में रखते हुए पेंशन योजनाएं शुरू की गई हैं। ये योजनाएं सभी जरूरतमंद नागरिकों तक पहुंच सके इसके लिए नियम पात्रता एवं शर्तें सरल बनाए गए हैं। अलग-अलग पेंशन योजनाओं के लिए कुछ अलग अलग मापदंड व पात्रता तय किए गए हैं जो निम्न हैं।

(Rajssp) राजस्थान सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना 2020 –

सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना में जैसा बताया गया है कि इसके अंतर्गत वृद्धजन, दिव्यांग विधुर- विधवा आदि को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।  2020 के अंतर्गत इसमें सुधार किया गया इसके अंतर्गत सभी जाति और वर्ग सामान्य वर्ग अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति क्या या अन्य वर्ग से आने वाले महिलाओं को उनकी उम्र के अनुसार यह पेंशन दिया जाएगा।

इसके लिए वे अपने बैंक अकाउंट मैं लाभार्थी को सीधे उसके अकाउंट में डाल दी जाएगी। इस योजना में क्या क्या प्राप्त होगा? इसकी जानकारी आपको बता दी जा रही है इसके अंतर्गत 3 योजनाएं हैं, इसकी व्याख्या कि हम बाद में करेंगे।

आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज कौन-कौन से हैं?

जिन्हें आवेदन करना है उनके लिए कुछ दस्तावेजों का आवेदन के साथ जमा करना अनिवार्य है। यह आवेदन आप अपने स्थानीय स्तर पर या जहां आप रहते हैं; वहां के अधिकारियों को दे सकते हैं-जैसे ग्राम पंचायत जनपद पंचायत या नगर निगम नगर पालिका या नगर परिषद में जाकर आवेदन को जमा किया जा सकता।

  •  एक आवेदन पत्र जिसमें जरूरी जानकारी हो संलग्न करना अनिवार्य।
  • नवीनतम पासपोर्ट साइज की दो फोटो।
  • उम्र को प्रमाणित करने वाली दस्तावेज जिसमें डेट ऑफ बर्थ हो
  • दिव्यांग व्यक्ति को दिव्यांगता प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी।
  • अकेली रहने वाली स्त्री एवं परित्यक्ता स्त्री के लिए प्रमाण पत्र।
  • निराश्रित या निर्धन हेतु बीपीएल कार्ड या अन्य जरूरी दस्तावेज संलग्न करना अनिवार्य।
  • आय संबंधी प्रमाण पत्र की छायाप्रति।
  • बैंक द्वारा जारी पासबुक की छाया प्रति।
  • इन दस्तावेजों के साथ उपयुक्त अन्य दस्तावेज जिन्हें अधिकारियों द्वारा मांग की जाती है वह जमा वे दस्तावेज संलग्न किया जाएगा।

Samajik Suraksha Pension Yojana के अंतर्गत कौन-कौन सी योजनाएं शामिल की गई हैं?

राजस्थान सरकार द्वारा सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना को प्रारंभ करने के लिए पूर्व में चली आ रही अन्य पेंशन योजनाओं को इस योजना में मर्ज कर दिया गया है ताकि एकीकृत कर सब को इसका लाभ मिल सके इन योजनाओं में निम्न pension yojanaen शामिल हैं-

  • मुख्यमंत्री वृद्धजन सम्मान पेंशन योजना
    (Mukhymantri Samman Pension Yojana)
  •  मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना
    (mukhymantri ekal naari samman pension yojna)
  •  मुख्यमंत्री विशेष योग्यजन सम्मान पेंशन योजना
    (Mukhymantri vishesh yogyjan sammman pension yojna)
  •  लघु एवं सीमांत कृषक वृद्धजन पेंशन योजना
    (Laghu evm siman krashak vradhjan pension yojna)

Pension Yojana 2020 लिए हम आवेदन कैसे कर सकते हैं?

आवेदन की प्रक्रिया को अत्यंत ही सरल बना दिया गया है आप किसी भी ईमित्र या एस एस ओ आईडी पोर्टल में जाकर ऑनलाइन पंजीयन करा सकते हैं या किसी मित्र या पब्लिक SSO सेंटर में आवेदन भी किया जा सकता है और आप इस योजना के लाभार्थी बन सकते हैं। यह प्रक्रिया अत्यंत ही सरल है।

ये भी पढ़े – Sukanya Samriddhi Yojana क्या है। जानिए सब कुछ।

मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना क्या है?

राज्य सरकार द्वारा यह पेंशन योजना शुरू की गई इसके अंतर्गत वे महिलाएं जो तलाकशुदा/छोड़ी गई अथवा परित्यक्ता, विधवा एवं अन्य असहाय महिलाएं जिनकी आय ₹48000 प्रति वर्ष से कम हो वह स्त्रियां इस पेंशन योजना के लिए पात्र होंगे और इनका लाभ उनके द्वारा किया जा सकेगा। योजना का शुरू करने का उद्देश्य केवल यही है कि नहीं सशक्त रूप से समाज में स्थापित किया जा सके और सामाजिक समानता की भावना एवं लोक कल्याणकारी राज्य स्थापना की ओर एक कदम और बढ़ाया जा सके।

इस योजना में न्यूनतम आयु 18 वर्ष अधिकतम 55 वर्ष रखी गई है इस योजना के माध्यम से प्रतिमाह ₹500 आर्थिक सहायता पेंशन के रूप में प्रदान की जाएगी 55 वर्ष से अधिक की महिलाओं के लिए ₹750 पेंशन दी जाएगी। अगर 60 वर्ष से अधिक है, तो ₹1000 पेंशन या धनराशि दी जाएगी 75 वर्ष से अधिक महिलाओं के लिए ₹15 का प्रावधान एकल नारी सम्मान पेंशन योजना में रखा गया है।

राजस्थान वृद्धावस्था पेंशन संबंधी योजना।

सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए वृद्धजनों के लिए पेंशन शुरू की गई जिसका नाम था राजस्थान वृद्धावस्था पेंशन योजना इस योजना में शामिल पुरुष एवं महिला दोनों हैं अलग-अलग उम्र के लिए अलग-अलग धनराशि का प्रावधान इस योजना में किया गया है जिससे उनमें में आर्थिक रूप से निर्भरता बनी रहे।

इस योजना में वही लोग भाग ले सकते हैं जिनकी आय ₹48000 प्रतिवर्ष हो। इसमें 58 से 75 वर्ष की उम्र के व्यक्तियों के लिए ₹750 का प्रावधान है एवं 75 वर्ष की उम्र से ज्यादा के लोगों के लिए ₹1000 का प्रावधान किया गया है यह धनराशि महिला एवं पुरुष दोनों को समान प्रदान की जाएगी।

ये भी पढ़े – वन नेशन वन राशन कार्ड क्या है? इस कार्ड के क्या लाभ है ?

योजना का लाभ उठाने के लिए पात्रताएं। (Rajssp)

सभी योजनाओं को शामिल कर बनाई गई यह महत्वपूर्ण योजना के लिए एक सामान्य नियम शर्ते व पात्रता निश्चित किए गए हैं जो निम्नलिखित हैं

💮निराश्रित व् वृद्धजन हेतु आयु 60 वर्ष तय की गई है।

💮जो नारी संबंधी पेंशन योजना में शामिल होना चाहते हैं उनकी कम से कम आयु 18 वर्ष से अधिक हो वह तय किए गए मापदंड का पालन करते हैं तभी कल्याणी पेंशन प्राप्त कर सकती हैं अन्यथा नहीं।

💮18 वर्ष से अधिक किंतु 59 वर्ष से कम आयु की परिपक्वता महिला जो बीपीएल के अंतर्गत आती हो वह योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं इसके लिए प्रमाण पत्र होना आवश्यक है जो वैध होना चाहिए।

💮 जिनकी आयु 6 से 18 वर्ष के बीच हूं और दिव्यांग हो और सरकार द्वारा प्रमाणित 40% से अधिक दिव्यांग होने पर शिक्षा प्रोत्साहन राशि सहायता के लिए दी जाएगी।

💮वृद्धावस्था में वृद्ध आश्रम में निवास करने वाले व्यक्तियों जिनमें महिला पुरुष दोनों शामिल हैं वह 60 वर्ष से अधिक हो, स्थानीय निवासी हो उनको योजना का लाभ मिल सकता है।

💮 इसके साथ ही अन्य जो संबंधित प्रभारी एवं निदेशक हैं उनसे समय समय पर प्राप्त दिशा निर्देशों का पालन योजना के लाभार्थियों द्वारा किया जाना अनिवार्य होता है।

मुख्यमंत्री विशेष योग्यजन सम्मान पेंशन योजना –

इसमें ऐसे व्यक्तियों को शामिल किया जाता है जो निशक्तजन एवं दिव्यांग हो जोमोनी पर कंपन का शिकार या हिजड़ा पंच से ग्रसित हो वह इस योजना का लाभ ले सकते हैं। आयु 55 साल से कम महिला और 58 साल से कम पुरुषों को इस योजना के माध्यम से ₹750 की धनराशि पेंशन के रूप में प्राप्त होगी,

इससे अधिक उम्र के व्यक्तियों के लिए ₹1000 की धनराशि का प्रावधान किया गया है साथ ही 75 वर्ष से अधिक उम्र के आयु के लाभार्थियों के लिए 1250 रुपए की धनराशि देने का प्रावधान पेंशन के रूप में किया गया है इसी में अगर पूर्व में कुष्ठ रोग से ग्रसित रहे व्यक्तियों के लिए पंद्रह सौ रुपए का प्रावधान किया गया है।

आवेदन कहां से प्राप्त करें और कहां जमा करें? (Rajssp)

आप आवेदन राजस्थान के सामाजिक सुरक्षा योजना के ऑफिशियल साइट में जाकर डाउनलोड कर सकते हैं। योजना संबंधित जानकारी एवं दस्तावेज के साथ आप अपने सब डिविजनल ऑफिस या ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिस में पहुंचकर वहां फॉर्म जमा कर सकते हैं। इसका सत्यापन तहसीलदार या नायब तहसीलदार किया जाएगा।

उनके निधन के बाद एसडीओ या वीडियो में स्वीकृति प्राधिकरण इसकी जांच करेगा और तत्पश्चात इसे मंजूरी को आगे बढ़ाएगा बाद में ट्रेजडी वह ट्रेजरी ऑफिस में लाभार्थियों के भुगतान की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी और प्रतिमाह पेंशन प्राप्त हो जाएगा।

toll free helpline number 1800-180-6127 जिसपे संपर्क कर के आप और ज्यादा जानकारी ले सकते है। और यहां पर क्लिक करके आप अधिक जानकारी ले सकते है। 

ये भी पढ़े – प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना क्या है? इसका लाभ आप कैसे उठाये ।

पसंद आया तो शेयर करे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*